बिना वजह ज्यादा सोचने से क्या बीमारियाँ हो सकती हैं, जानिये इसके कारण व उपाय.

By : Arshad  |  Updated On : 17 Aug, 2021

बिना वजह ज्यादा सोचने से क्या बीमारियाँ हो सकती हैं, जानिये इसके कारण व उपाय.

 ओवरथिंकिंग आज कल के दौर में एक आम बता हो गयी है, हर इंसान ओवर थिंकिंग का शिकार बना पड़ा है, ज्यादा सोचने से आपको तनाव, नींद व दिल की बीमारियाँ हो सकती हैं.

नेगेटिव चीजों को सोचने से होती है आपको ओवरथिंकिंग.

बड़े-बड़े मोटिवेशनल स्पीकर का कहना है कि ओवरथिंकिंग दो तरह की होती हैं एक वो जो आप रियलिटी को लेकर के ज्यादा सोचते हैं और दूसरा किसी चीज को अपने दिमाग में अनावश्यक रूप से रख के उसे ज्यादा सोचते हैं. रियलिटी पर ज्यादा सोचने से आपकी प्रॉब्लम का सोल्यूशन मिल सकता है परन्तु अपने दिमाग में इमेजनरी सोच रखने से आप हमेशा ज्यादा सोचते चले जाते हैं और इसका कोई अंत नहीं है. इसी कारण आप डिप्रेशन नींद न आना जैसी तरह तरह की बीमारियाँ का शिकार बन सकते हैं. हमारे मन में काफी तरह के अनावश्यक सवाल आते रहते हैं जो हम खुद को सकारात्मक नहीं रख पाते हैं,ऐसे में कोई भी घटना के बारे में हम नकाराताम्क सोचने लगते हैं और सोचते ही चले जाते हैं.

अगर आप ओवरथिंकिंग से बचना चाहते हैं तो आप अपने बारे में जागरूक रहें तथा अपना ध्यान भटका लें.

एक ही चीज को बार-बार में अप सोचते रहते हैं जिससे आपके दिमाग में एक अलग ही दुनिया चलने लगती है, ओवरथिंकिंग विचारों की बहुत बड़ी बाढ़ है, जिससे तनाव और चिंता बढ़ जाता हैं, ऐसे में अगर आप किसी बात को लेकर ज्यादा सोचने की कोशिश कर रहे हैं तो आप अपना ध्यान भटका लें और अपने प्रति जागरूक रहें, यह तभी हो सकता है जब आपको अपने दिमाग पर काबू होगा, जबरदस्ती आप  विचारों को रोकने की कोशिश ना करें, इसके बजाय अपने आप को दूसरेकामों में बिजी कर दें. अगर आप ये सब करने में कामयाब रहते हैं तो रात को अच्छी नींद का आनंद ले सकते हैं तथा डिप्रेशन का शिकार होने से भी बच सकते हैं.