हल्दी, अदरक और संतरे के इम्युनिटी बूस्टर गुण.

By : Admin  |  Updated On : 13 Aug, 2020

हल्दी, अदरक और संतरे के इम्युनिटी बूस्टर गुण.

मौसम में बदलाव बहुत सारे लोगों के लिए परेशानी बन जाती है, खास करके उनके लिए जिनका इम्यूनिटी थोड़ा कमजोर होता है। मौसम में बदलाव के कारण होने वाली बीमारियां कभी-कभी सही वक्त पर इलाज ना होने के कारण घातक रूप ले लेती हैं।


हालांकि हमारे घर की रसोई में ऐसे बहुत सारी सामग्री मौजूद रहते हैं, जिनके उपयोग से हम इन बीमारियों को कोसों दूर रख सकते हैं। उदाहरण के तौर पर अदरक जो हमारे खाने का सिर्फ स्वाद ही नहीं बढ़ाता बल्कि इसमें ऐसी बहुत सी खूबियां हैं, जिससे हमारे शरीर को सकारात्मक लाभ पहुंचता है।

अदरक हमारे भोजन को पचाने में बहुत ही कारगर है। इसके सेवन से हमारी हृदय को भी लाभ पहुंचता है। इसके अलावा हल्दी मैं भी ऐसे बहुत सारे गुण हैं जिससे हमारे शरीर को विभिन्न रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है। हल्दी हमारे शरीर में एंटी ऑक्सीडेंट का भी काम करती है। हल्दी और अदरक जैसी गुणकारी सामग्री के अलावा कुछ मौसमी फल भी हैं जो हमारे शरीर को मौसम में बदलाव होने के कारण होने वाली बीमारियों से बचाता है। जैसे कि संतरा, यह एक बहुत ही अच्छा एंटीऑक्सीडेंट है, जो ना सिर्फ हमारी इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाता है बल्कि शरीर के वजन को कम करने में भी मदद करता है।

हल्दी कैसे इम्युन को मजबूत बनाता है

हल्दी की एंटीऑक्सीडेंट गुण काफी हद तक ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करती है। हल्दी आपको भीतर से ठीक करने में मदद कर सकती है, और दर्द और बेचैनी को कम करने में भी मदद करती है जो अक्सर संक्रमणों से जुड़ी होती है।  अध्ययनों के अनुसार, हलदी कई तरह के दर्द और सूजन को कम कर सकती है।

संतरे की इम्यूनिटी-बूस्टिंग लाभ

संतरे विटामिन C से भरपूर होते हैं जो स्वाभाविक रूप से आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाते हैं। संतरे एंटीऑक्सिडेंट का खजाना हैं।  संतरे में मौजूद एस्कॉर्बिक एसिड और बीटा-कैरोटीन शरीर में होने वाले नकारात्मक गतिविधि से लड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

अदरक के लाभ

अदरक में NSAIDs (गैर-स्टेरायडल अंटीइन्फ्लामेबल  दवाएं) के समान एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो इसे फ्लू, सिरदर्द और मासिक धर्म के दर्द के लिए एक उत्कृष्ट उपाय बनाता है। यह पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस में भी दवा का सेवन कम कर सकता है।