क्या आप जानते हैं, मेथी आपको इन 10 स्वास्थ्य समस्याओं से बचा सकती है।

By : Admin  |  Updated On : 24 Aug, 2020

क्या आप जानते हैं, मेथी आपको इन 10 स्वास्थ्य समस्याओं से बचा सकती है। Do you know, Fenugreek can save you from these 10 health problems?

जब हम "मेथी" (Fenugreek) कहते हैं, तो हमें कई स्वादिष्ट खाद्य पदार्थों के नाम याद आते हैं, मेथी के पराठे से लेकर आलू मेथी की सब्जी तक - मेथी खाना पकाने में एक स्वाद बढ़ाने वाली सामग्री है! मेथी हमारी पसंदीदा पंचफोरन सामग्री में से एक है। क्या आप इस मेथी के स्रोत और इतिहास को जानते हैं?

मेथी (Trigonella phenum gricum) दक्षिणी यूरोप और एशिया में पाई जाने वाली एक जड़ी बूटी है। यह पीले-भूरे रंग का होता है। मेथी थायमीन (thiamine) फोलिक एसिड (folic acid), राइबोफ्लेविन (riboflavin), नियासिन (niacin), विटामिन ए(vitamin A), बी 6 (B6) और C से भरपूर होती है। इन जड़ी बूटियों में पोटेशियम (potassium), कैल्शियम (calcium), आयरन (Iron), सेलेनियम(selenium), जिंक (Zinc), मैंगनीज (manganese) और मैग्नीशियम (magnesium) जैसे कई आवश्यक खनिज होते हैं। मेथी के पत्ते विटामिन K से भरपूर होते हैं।

मेथी (Fenugreek) का उपयोग केवल रसोई तक सीमित नहीं है - मेथी का उपयोग व्यापक रूप से आयुर्वेदिक दवाओं (Herbal medicine) की तैयारी, सौंदर्य (Beauty) और बालों के उपचार (Hair treatment) में किया जाता है। जानना चाहते हैं कि आपके दैनिक जीवन में इस मेथी का उपयोग कैसे किया जा सकता है?

 

1. शुगर कंट्रोल करने में मदद करता है। Helps in sugar control.

मेथी (Fenugreek) के बीज फाइबर (Fiber) और अन्य तत्वों से भरपूर होते हैं, जो शरीर के पाचन (Digestion) को नियंत्रित करते हैं, और इसमें कार्बोहाइड्रेट और शर्करा (Sugar) को अवशोषित करने की क्षमता होती है। मेथी शरीर में इंसुलिन (insulin) के स्राव के स्तर को बढ़ाती है।

वर्तमान शोध के अनुसार, रोजाना 10 ग्राम गर्म मेथी के बीजों का सेवन करने से टाइप 2 डायबिटीज को नियंत्रित करने में यह बहुत प्रभावी है। मेथी के गेहूं से बनी रोटी इंसुलिन को रोकने के लिए टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों की क्षमता कम कर देती है।

 

2) कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol)


मेथी (Fenugreek) न केवल रक्त (blood) में मौजूद कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) से छुटकारा पाने में मदद करती है, बल्कि यह आपके शरीर को कोलेस्ट्रॉल से होने वाले नुकसान से धीरे-धीरे बचाने में भी बेहद सक्षम है।
मेथी शरीर को लिपोप्रोटीन या खराब प्रोटीन को कम करने में मदद करती है। मेथी के बीज में मौजूद स्टेरॉइडल सैपोनिन्स छोटी आंत में कोलेस्ट्रॉल के जमाव की दर को कम करते हैं। यह लिवर से द्रव के अवशोषण की दर को कम करने में भी प्रभावी है। मेथी भी वसायुक्त खाद्य पदार्थों से ट्राइग्लिसराइड्स के अवशोषण स्तर को कम करने में सक्षम है।

 

3) गठिया दर्द (arthritis pain)

 गठिया arthritis लगभग सभी लोगों में एक बड़ी समस्या बन गई है। इंडियन जर्नल ऑफ मेडिकल रिसर्च के अनुसार, एस्ट्रोजेन पर मेथी का प्रभाव इतना अधिक है कि डॉक्टर अब मेथी के उपयोग की तुलना एस्ट्रोजन रिप्लेसमेंट थेरेपी से कर रहे हैं। मेथी तीव्र गठिया के दर्द को कम करने में बेहद प्रभावी है।

 

4) दिल की सेहत (Heart health)

दिल की सेहत को बनाए रखने में मेथी के बेहद फायदे हैं। मेथी शरीर से एसिड की मात्रा को बहुत जल्दी कम कर सकती है। यह शरीर में एसिड के स्तर को नियंत्रित करने के लिए एक प्रभावी हर्बल उपचार है। अगर आप मेथी के बीजों को रात भर पानी में भिगोकर रख देते हैं और अगली सुबह खाली पेट पीते हैं, तो घर पर बिना दवा के हार्ट दर्द या हार्टबर्न जैसी समस्याएं कम हो जाएंगी।

5) मासिक धर्म का दर्द (menstrual pain)


पीरियड (Periods) का दर्द लगभग सभी लड़कियों के जीवन में एक बुरे सपने की तरह होता है, और महीने के उन खास दिनों में, स्कूल या कॉलेज में खराब मूड या तनाव लगभग हर किसी के जीवन में होता है। चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है - समाधान रसोई में है!
जैसे-जैसे गर्भाशय में मृत ऊतकों की संख्या बढ़ती है, पीरियड्स का दर्द शुरू होता है। महीने के उन खास दिनों में गर्म मेथी से बनी चाय इस दर्द से राहत दिलाने का एक शानदार तरीका हो सकता है।

 

6) पाचन (Digestion)

 

मेथी के बीजों में बहुत अधिक फाइबर और अन्य तत्व होते हैं जो शरीर के पाचन को नियंत्रित करते हैं और इसमें कार्बोहाइड्रेट और शर्करा को अवशोषित करने की क्षमता होती है।

 

7) कैंसर (Cancer)


एक हालिया अध्ययन में पाया गया कि मेथी का उपयोग कैंसर के खतरे को कम करता है। डॉक्टर कैंसर को रोकने के लिए खाना पकाने में मेथी का उपयोग करने के लिए भी कहते हैं। मेथी, विशेष रूप से महिलाओं को लेनी चाहिए क्योंकि मेथी में मौजूद ट्राइग्लिसराइड एस्ट्रोजन को अवशोषित करने वाले न्यूनाधिक के रूप में कार्य करता है और स्तन कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं को नष्ट करता है।

 

8) स्तन के दूध का उत्पादन (Production of breast milk)


मेथी में मौजूद डायोसजेनिन दूध उत्पादन को बढ़ाता है। मेथी में मौजूद विटामिन और खनिज स्तन के दूध के पोषण मूल्य को बढ़ाते हैं और इसे नवजात शिशुओं के लिए उत्कृष्ट बनाते हैं।

 

9) वजन कम करने के लिए मेथी (Fenugreek to lose weight)

 

मेथी के बीज आयरन, मैग्नीशियम, मैंगनीज, कॉपर, विटामिन बी 6, प्रोटीन, फाइबर, कई लाभकारी विटामिन और खनिजों का एक स्रोत हैं। इसमें एंटीऑक्सिडेंट और एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं।
मेथी के बीज में गैलेक्टोमैनन नामक फाइबर होता है और यह पानी में आसानी से घुल जाता है, जो आपको भरा हुआ महसूस कराकर भूख की भावना को कम करके वजन कम करने में मदद करता है। यह शरीर के मेटाबॉलिज्म को भी बढ़ाता है, जिससे फैट कम होता है और अन्य वसा ऊतकों के प्रदर्शन में कमी आती है।

 

10) रक्तचाप (blood pressure)

 

उच्च पोटेशियम और फाइबर सामग्री की उपस्थिति के कारण मेथी के बीज रक्तचाप को कम करने के लिए प्रभावी तत्व हैं। एक या दो चम्मच मेथी के दानों को दो मिनट के लिए पानी में उबालें, इसे रगड़ें, बीजों का पेस्ट बनाएं और इसे सुबह खाली पेट दिन में दो बार खाएं। यदि आप इसका पालन करते हैं, तो आप दो से तीन महीनों में सुधार देखेंगे।