पपीता खाने के आश्चर्यजनक फायदे, पथरी का रामबाण इलाज

By : FiveMinute  |  Updated On : 17 Feb, 2021

पपीता खाने के आश्चर्यजनक फायदे, पथरी का रामबाण इलाज - Papita khane ke fayde

पपीता (Papaya) दुनिया में सबसे लोकप्रिय फलों में से एक है। हर कोई इस फल को इसके पोषण मूल्य के कारण इसे पसंद करता है। किसी भी छोटे बड़े बाज़ार में आपको पपीते की दूकान मिल जाएगी जहां आप इसे रोजाना आसानी ले सकते हैं। पपीते का उपयोग फलों के सलाद बनाने के लिए भी किया जाता है। पपीते में विटामिन A, C, K, मैग्नीशियम, पोटेशियम, प्रोटीन होता है। पपीते में ढेर सारा फाइबर भी होता है। और पपीते में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। हालांकि यह फल खाने में मीठा है परन्तु इसके नुकसान करने वाला सक्कर नहीं होता है। यही कारण हे की डॉक्टर मधुमेह रोगियों को दिन में एक बार पके पपीते को खाने की अनुमति देते है। यदि आप पाचन समस्याओं से भी पीड़ित हैं तो पपीता आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा। कई कारणों से हमारा पेट रोजाना ठीक से साफ़ नहीं हो पाटा है, नतीजतन, दूषित पदार्थ शरीर से बाहर नहीं निकलते है। इसलिए, पके पपीते को खाली पेट खाने की सलाह दी जाती है ताकि पाचन में मदद करने वाले एंजाइम ठीक से काम कर सकें। पका पपीता शरीर को कई तरह से स्वस्थ भी रखता है।

 

पपीता खाने के और भी फायदे

हार्ट की समस्या - पपीते के नियमित सेवन से दिल की समस्याओं का खतरा कम हो जाता है। पपीते में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। इसके अलावा विटामिन A , C , E  आदि शामिल हैं। जो कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। नतीजतन, स्ट्रोक और दिल के दौरे की संभावना कुछ हद तक कम हो जाती है। इस कारण से, डॉक्टर उन लोगों को पपीता खाने की सलाह देते हैं जिन्हें डायबिटीज और दिल की समस्या है।

 

आँखों की समस्या - आज के टेक्निकल युग में लगभग हर इंसान को आँखों में समस्या होना एक आम बात बन गयी है।  लम्बे समय तक टेलीविज़न  देखना, कंप्यूटर, मोबाइल फ़ोन आदि में समय बिताना आज की जरुरत बन गयी है। इस वजह से बड़ो के साथ साथ बच्चों में भी चश्मा पहनना एक मज़बूरी बन गयी है और कम उम्र में भी आंखों की रोशनी खराब होने जैसी समस्याएं आ रही हैं। हाल ही में हुए एक अध्ययन से पता चला है कि रोज पके पपीते खाने से यह समस्या बहुत कम हो जाती है। कारण है पपीते में विटामिन A की भरपुर मात्रा का होना। बच्चो को दिन में कम से कम एक बार और वयस्कों को दिन में दो बार पपीता खाना चाहिए ।

 

पाचन में मदद करता है- पपीता मुंह के स्वाद को बदलता है जिसके कारण इससे भूख बढ़ती है। पपीता पेट को साफ करने में मदद करता है। इससे हार्टबर्न की समस्या कम हो जाती है । यह उन लोगों के लिए भी बहुत फायदेमंद है जिन्हे बवासीर की समस्या है। इससे हानिकारक टॉक्सिन्स शरीर से बाहर निकाल जाते है जिसके वजह से बवासीर की समस्या से निजात मिलता है और शरीर स्वस्थ रहता है ।

 

कोलेस्ट्रॉल से राहत - पपीता में कैलोरी नहीं होती है और फाइबर की भरपूर मात्रा होती है। जो लोग कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित हैं यदि दिन में एक बार पके पपीते खाते है तो उन्हें बहुत अच्छे परिणाम मिलेंगे । कोलेस्ट्रॉल में नियंत्रण पाने से आप अन्य बीमारियों के जोखिम को काम कर सकते है।

 

कैंसर के खतरे को कम करता है - पपीते में एंटीऑक्सिडेंट, बीटा कैरोटीन, फ्लेवोनोइड, ल्यूटिन, क्रिप्टोक्सैंथिन में प्रचुर मात्रा में पायी जाती है। इसमें और भी कई पोषक तत्व होते हैं जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। कैरोटीन फेफड़ों और अन्य कैंसर के खतरे को कम करता है।

 

बालों की देखभाल- पपीता बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। अगर आप डेंड्रफ की समस्या से पीड़ित हे तो यह आपके लिए बहुत ही काम का फल है। पपीते को खट्टे दही में मिलाकर लगाने से भी बालों के रोम मजबूत होते हैं। बालों की चमक बनी रहती है। पपीता सिर के जूँ को हटाने में भी मदद करता है।

 

पपीते के फल को खाने से असामान्य लाभ के बारे आप तो जान गए लेकिन अब आपको ये जानकार हैरानी भी हो सकती है की इसके जड़ में एक बहुत ही बड़ा गुण छिपा है जिसे बहुत कम लोग अवगत है।

 

पेट में किसी प्रकार की पथरी को गायब कर सकता है पपीते का जड़। - पथरी की बीमारी एक बहुत ही आम समस्या बनती जा रही है, इससे निजात पाने के लिए लोग कई तरह के इलाज का सहारा लेते है। अलोपेथिक इलाज में तो लगभग हर बार ऑपरेशन करने की नौबत आ जाती है, जिसके कारण मरीज को बहुत ही तकलीफ से गुजरना पड़ता है। लेकिन पथरी का दर्दरहित इलाज पपीते के जड़ में छिपा है। जिसके इस्तेमाल से आपको पथरी की समस्या से बस ३ से ४ दिन में ईजाद मिल जाएगी। 

 

पपीते की जड़ के इस्तेमाल की विधि - सुबह जल्दी उठकर आपको एक 5 से 6 फुट ऊँची पपीते के पौधे को जड़ से उखाड़ लेना है। इसके मुख्या जड़, जो साफ़ करने के बाद बिलकुल सफ़ेद दीखता है उसे 3 इंच काट लेना है। ठीक से साफ़ कर के जड़ को आप सिलबट्टे में पीस ले। पीसने के बाद इसके रस को आप साफ़ सूती कपडे में रख कर निचोड़ ले। आपको इससे लगभग एक गिलास रस मिल जायेगा। इस रस को आपको सुबह सबसे पहले खाली पेट पीना है। हो सकता आपको इसका स्वाद अच्छा न लगे, या फिर आपको उलटी भी हो सकती है। पर इससे घबराये नहीं। आपको यह प्रकृया अगले तीन दिनों तक करनी है। कुछ दिनों के बाद आप जब अपने पथरी का चेकउप कराएँगे तो वह आपको गायब मिलेगा।