आरबीआई गवर्नर(RBI Governor) की सूची और उनकी समयावधि.

By : Samarjeet Singh  |  Updated On : 10 Jan, 2021

आरबीआई गवर्नर(RBI Governor) की सूची और उनकी समयावधि- List of Rbi governor and their time period.

इस लेख में हम आपको RBI गवर्नर(RBI Governor) की पूरी सूची दे रहे हैं। आरबीआई गवर्नर(RBI Governor) के बारे में जानना किसी भी प्रतियोगी परीक्षा के लिए आपकी तैयारी का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है, चाहे वह यूपीएससी परीक्षा हो, बैंक परीक्षा हो या कोई अन्य सरकारी परीक्षा।

RBI के पहले गवर्नर कौन थे? Who was the first Governor of RBI?

भारतीय रिजर्व बैंक के पहले गवर्नर सर ओसबोर्न स्मिथ(Sir Osborn Smith) (ब्रिटिश) थे, जबकि
सर सी.डी. देशमुख (Sir C.D. Deshmukh)RBI गवर्नर की सूची में पहले भारतीय गवर्नर थे।

RBI कब बना? When did RBI formed?

भारतीय रिज़र्व बैंक(RBI) की स्थापना 1935 में ब्रिटिश सरकार द्वारा की गई थी। अपनी स्थापना के बाद से, संगठन ने 25 लोगों को RBI गवर्नर के रूप में कार्य करते देखा है।

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर, सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और इसके सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स के पदेन अध्यक्ष होते हैं।

RBI गवर्नर भारत सरकार द्वारा एक निश्चित समयावधि के लिए नियुक्त किए जाते हैं। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी भारतीय नोट पर आरबीआई के गवर्नर द्वारा हस्ताक्षर किए जाते हैं।

प्रतियोगी परीक्षा में पॉलिटी सेक्शन के लिए भारतीय रिजर्व बैंक गवर्नर की सूची महत्वपूर्ण है।

आरबीआई गवर्नर के कर्तव्य, भूमिका और जिम्मेदारियां (Duties, Roles & Responsibilities of RBI Governor)

सबसे प्रतिष्ठित वित्तीय संस्थानों के प्रमुख होने के नाते, आरबीआई गवर्नर एक अर्थव्यवस्था में मौद्रिक स्थिरता को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार हैं। इस प्रकार, भारतीय रिजर्व बैंक की नीतियों को तैयार करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

नए विदेशी और निजी बैंकों को लाइसेंस जारी करने की जिम्मेदारी भी आरबीआई के गवर्नर की होती है।

देश के अग्रिम और जमा पर ब्याज दरों को नियंत्रित करने की शक्ति RBI के गवर्नरों पर निहित है।

RBI का गवर्नर बाहरी व्यापार का प्रबंधन करता है और भुगतान भारत में विदेशी मुद्रा बाजार के क्रमबद्ध विकास और रखरखाव को भी बढ़ावा देता है जो विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 के अंतर्गत आता है।

देश में पर्याप्त मात्रा में करेंसी नोटों और सिक्कों की आपूर्ति की निगरानी और मुद्रा का निर्गमन और विनाश जो सार्वजनिक रूप से प्रचलन के लिए फिट नहीं है।

RBI के गवर्नर नियमों और विनियमों की जांच करते हैं ताकि उन्हें अधिक ग्राहक-अनुकूल बनाया जा सके।

शहरी बैंक विभागों के माध्यम से RBI गवर्नर प्राथमिक सहकारी बैंकों का नेतृत्व और पर्यवेक्षण करता है।

इसके अलावा, आरबीआई गवर्नर लघु उद्योग, ग्रामीण और कृषि क्षेत्रों में ऋण के प्रवाह की निगरानी भी करता है। राज्य सहकारी बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और विभिन्न स्थानीय क्षेत्र के बैंकों के विनियमन की जिम्मेदारी गवर्नर के अंतर्गत आती है।

Also Read- RRB NTPC 2020 (प्रत्येक शिफ्ट)में पूछे गए GK/GS के प्रश्न और उनका उत्तर I

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नरों की सूची List of RBI Gvernors.

RBI के गवर्नर

(Head of Reserve Bank of India)

समय सीमा
सर ओसबोर्न स्मिथ1 अप्रैल, 1935 - 30 जून, 1937
सर जेम्स ब्रैड टेलर1 जुलाई, 1937 - 17 फरवरी, 1943
सर सी.डी. देशमुख11 अगस्त, 1943 - 30 जून, 1949
सर बंगाल रामा राउ1 जुलाई, 1949 - 14 जनवरी, 1957
K.G. अंबेगांवकर14 जनवरी, 1957 - 28 फरवरी, 1957
एच. वी. आर, लेंगर1 मार्च, 1957 - 28 फरवरी, 1962
पी. सी. भट्टाचार्य1 मार्च, 1962 - 30 जून, 1967
लाल कृष्ण झा1 जुलाई, 1967 - 3 मई, 1970
B.N. अदरकर4 मई, 1970 - 15 जून, 1970
एस जगन्नाथन16 जून, 1970 - 19 मई, 1975
एन.सी. सेन गुप्ता19 मई 1975 - 19 अगस्त 1975
के.आर. पुरी20 अगस्त, 1975 - 2 मई, 1977
एम. नरसिम्हम3 मई, 1977 - 30 नवंबर, 1977
आई जी पटेल1 दिसंबर, 1977 - 15 सितंबर, 1982
मनमोहन सिंह16 सितंबर, 1982 - 14 जनवरी, 1985
अमिताव गोश15 जनवरी, 1985 - 4 फरवरी, 1985
R.N. मल्होत्रा ​​4 फरवरी, 1985 - 22 दिसंबर, 1990
एस वेंकटरमन22 दिसंबर, 1990 - 21 दिसंबर, 1992
सी. रंगराजन22 दिसंबर, 1992 - 21 नवंबर, 1997
बिमल जालान22 नवंबर, 1997 - 6 सितंबर, 2003
Y.V. रेड्डी6 सितंबर, 2003 - 5 सितंबर, 2008
डी। सुब्बाराव5 सितंबर, 2008 - 4 सितंबर 2013
रघुराम जी. राजन4 सितंबर, 2013 - 4 सितंबर, 2016
उर्जित रवींद्र पटेल4 सितंबर, 2016 - दिसंबर 10,2018
शक्तिकांता दास12 दिसंबर, 2018 - आज तक

 

Questions related to Reserve bank Of India.

1. RBI के 4 डिप्टी गवर्नर कौन हैं? Who are the 4 Deputy Governors of RBI?
Ans- BP Kanungo, MK Jain, MD Patra, मार्च में एनएस विश्वनाथन के पद छोड़ने के बाद से चौथे उप राज्यपाल का पद खाली है।